34.1 C
Delhi
Tuesday, July 23, 2024

Buy now

Adsspot_img

अब जुनू कब किसी के बस में है – Ab junoon kab kisii ke bas men hai

- Advertisement -

अब जुनूँ कब किसी के बस में है
उसकी ख़ुशबू नफ़स-नफ़स में है

हाल उस सैद का सुनाईए क्या
जिसका सैयाद ख़ुद क़फ़स में है

क्या है गर ज़िन्दगी का बस न चला
ज़िन्दगी कब किसी के बस में है

ग़ैर से रहियो तू ज़रा होशियार
वो तेरे जिस्म की हवस में है

बाशिकस्ता बड़ा हुआ हूँ मगर
दिल किसी नग़्मा-ए-जरस में है

‘जॉन’ हम सबकी दस्त-रस में है
वो भला किसकी दस्त-रस में है

ab junoon kab kisii ke bas men hai
usakii khushaboo nafs-nafs men hai

haal us said kaa sunaaiie kyaa
jisakaa saiyaad khud kfs men hai

kyaa hai gar jindagii kaa bas n chalaa
jindagii kab kisii ke bas men hai

gair se rahiyo too jraa hoshiyaar
vo tere jism kii havas men hai

baashikastaa baDaa huaa hoon magar
dil kisii nagmaa-e-jaras men hai

‘jŏn’ ham sabakii dast-ras men hai
vo bhalaa kisakii dast-ras men hai

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
14,700SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles